LATEST:


Friday, June 24, 2011

देस में मना परदेस में अन्ना : दैनिक जागरण में

पूरबिया का आलेख

देस में मना परदेस में अन्ना: दैनिक जागरण में ‘पूरबिया’

 ...जिस अन्ना हजारे को अपने देश में और अपनी सरकार से अपनी बातें कहने-मनवाने के लिए 98 घंटे का अनशन करना पड़ा, उसी को लेकर सरकार को जब देश के बाहर अपनी बातें कहनी होती है तो वह इसे किसी टकराव या मतभेद के बजाय बहुदलीय लोकतंत्र प्रणाली का नया आयाम बताती है...

22 जून 2011 को दैनिक जागरण, राष्ट्रीय संस्करण के नियमित स्तंभ ‘फिर से’ में

 

No comments:

Post a Comment